Lyrics: Badrinath ki dulhaniya

HUMSAFAR LYRICS- BADRINATH KI DULHANIYA                                                                                                                                         

 Humsafar Lyrics- From Badrinath ki Dulhaniya(2017) Sung  by akhil Suchdeva.           BADRINATH KI DULHANIYA  movie star ,Alia bhat and varun dhawan. and directed by Shasank khaitan Badrinath dulhaniya releases on 10 MArch 2017        

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                         HUMSAFAR LYRICS -BADRINATH                                                                                                       KI DULHANIA                                                                                                                                    सुन ज़ालिमा मेरे शानू कोई डर ना

 की समझेगा  ज़माना                                                                                                                                                                                                                                                                    ओह तू वी सी कमली                                  

में वी सा कमला

इश्क़ दा रोग सायना                              songs credits:

इश्क़ दा रोग सायना                              song: humsafar

                                                               singer:akhil sachdeva

 सुन मेरे हमसफर                                    lyrics:akhil sachdeva

क्या तुझे इतनी सी भी खबर                     music: akhil sachdeva

                                                                  pics:mauthshut.com

 सुन मेरे हमसफर

क्या तुझे इतनी सी भी खबर

की तेरी साँसे चलती जिधर

रहूँगा बस वाही उमर भर

रहूँगा बस वाही उमरा भर हाय


जितनी हसीन ये मुलाकातें है

उनसे भी प्यारी तेरी बातें है

बातों में तेरी जो खो जाते है


आउ न होश में  में कभी

बाहों में  ह तेरी ज़िंदगी  हाय


 सुन मेरे हमसफर

क्या तुझे इतनी सी भी खबर


ज़ालिमा तेरे इश्क च में 

हो गई आन कमली हाए

 

में तो यून खड़ा किस

सोच में पडा था

 कैसे जि राहा था  में दीवाना 


चुपके से आके तूने

दिल में समा के तूने

छेड़ दिया कैसा ये फ़साना


ओह मुस्कुराना भी तुझी से शिखा है

दिल लगाने का तू तरीका है

ऐतबार भी तुझी से होता है


आउ न होश में में कभी

बाहो में तेरी ज़िंदगी बाहों में हाई 


हाई नही था पटा

के तुझे मान लूग खुदा

कि तेरी galliyon में इस कादर

आऊंगा हर पहर


 सुन मेरे हमसफर

क्या तुझे इतनी सी भी खबर

की तेरी साँसे चलती जिधर

रहूँगा बस वाही उम्र भर

रहूँगा बस वाही उम्र भर हाई 

463total visits,1visits today